लौह महिला  – आंनदीबेन पटेल
Spread the love

Indianwomenlife.com पर आज जानते हैं गुजरात की प्रथम महिला मुख्यमंत्री एवं म.प्र. की पहली राजपाल आंनदीबेन पटेल जी (anandiben patel) के बारे में.

नवंबर 21 को आंनदीबेन पटेल जी का जनम दिन है. सबसे पहले तो हमारी पूरी टीम की तरफ से उनको जनम दिन की बहुत बहुत शुभकामनाये. आंनदीबेन पटेल स्वभाव से तेजतर्रार और सख्त होने के साथ साथ एक कुशल प्रसाशक भी है ये अपने फैसले पर हमेशा बानी रहती हैं. इसलिए इन्हे लौह महिला के नाम से भी जाना जाता है. मगर उनकी सबसे बड़ी खूबी है साफ़-सुथरी छवि ।

उत्तरी गुजरात के खरोड़ गांव में 21 नवम्बर, 1941 में आनंदीबेन का जनम हुआ। स्कूल शिक्षा से आनंदीबेन(anandiben patel) हमेशा एक्टिव और अपने उद्देश्य की तरफ ही ध्यान लगाए रहती थी. आंनदीबेन के पति मफतभाई पटेल मनोविज्ञान के प्रोफ़ेसर व भारतीय जनता पार्टी नेता थे। इसलिए आंनदीबेन राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ व भाजपा के संपर्क में आई। उनके दो बच्चे संजय पटेल और अनार पटेल है

वह 1987 में औपचारिक तौर पर भाजपा में शामिल हुई और उन्हें पार्टी की महिला मोर्चा की जिम्मेदारी सौंपी गई। उन्होंने सात साल तक इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया। उन्हें पहली बार तब पहचान मिली, जब 1992 में वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी ने श्रीनगर में एकता यात्रा के दौरान तिरंगा फहराया। उस यात्रा के दौरान वह अकेली महिला नेता थी। इसके दो साल बाद 1994 में वह राज्यसभा सदस्य बनीं। 1998 में वह पहली बार मंडल विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुनी गई।

आंनदीबेन पूरी तरह से शाकाहारी हैं। और तो और उन्हें पक्षियों से बेहद प्यार है. वे बड़ी निडरता से अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठती रही हैं. मगर जितनी सख़्त वे बहार से है उल्टी है नरम दिल की भी है।

उपलब्धियाँ और पुरस्कार :-

  • सर्वश्रेष्ठ शिक्षक के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार (1989)
  • गुजरात में सबसे बेहतर शिक्षक के लिए राज्यपाल पुरस्कार (1988)
  • पटेल जागृति मंडल मुम्बई द्वारा ‘सरदार पटेल’ पुरस्कार (1999)
  • पटेल समुदाय द्वारा ‘पाटीदार शिरोमणि’ अलंकरण (2005)
  • महिलाओं के उत्थान अभियान के लिए धरती विकास मंडल द्वारा विशेष सम्मान
  • महेसाणा जिला स्कूल खेल आयोजन में पहली रैंकिंग के लिए ‘बीर वाला’ पुरस्कार
  • श्री तपोधन ब्रह्म विकास मंडल द्वारा ‘विद्या गौरव’ पुरस्कार (2000)
  • 1994 में उन्होंने बिजिंग में चतुर्थ विश्व महिला सम्मेलन में भारत का नेतृत्व किया।

Indian Women Anandiben Patel  Short Bio :

Born on 22 November 1941, in Kharod village of Vijapur taluka of Mehsana district, Gujarat, she is an Indian politician and the current Governor of Madhya Pradesh and Chhattisgarh and former Chief Minister of Gujarat, she was the Cabinet Minister for Education from 2002 to 2007. The couple have two children, Sanjay and Anar. Sanjay is married to Hina and they have one son, Dharm. Anar is married to Jayesh, and they have one daughter Sanskruti.


 

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *