ब्रज में होली

ब्रज में होली

On

कृष्ण राधा और उनकी गोपियों के साथ होली खेलने के लिए अपने ग्वालों के साथ नंदगांव से बरसाना आया करते थे और गोपियां उन्हें लाठियों से मारा करती थीं। तभी से यह एक रस्म बन गई। आज भी हुरियार नंदगांव से बरसाना…

क्यों मनायी जाती है होली

क्यों मनायी जाती है होली

On

विष्णुपुराण में वर्णित एक कथा के अनुसार दैत्यों के आदिपुरुष कश्यप और उनकी पत्नी दिति के दो पुत्र हुए। हिरण्यकशिपु और हिरण्याक्ष। हिरण्यकशिपु ने कठिन तपस्या द्वारा ब्रह्मा को प्रसन्न करके यह वरदान प्राप्त कर लिया कि न वह किसी मनुष्य द्वारा…

कैसे हुआ समुद्र मंथन

कैसे हुआ समुद्र मंथन

On

एक प्रचलित श्लोक के अनुसार चौदह रत्न निम्नवत हैं: लक्ष्मीः कौस्तुभपारिजातकसुराधन्वन्तरिश्चन्द्रमाः। गावः कामदुहा सुरेश्वरगजो रम्भादिदेवांगनाः अश्वः सप्तमुखो विषं हरिधनुः शंखोमृतं चाम्बुधेः। रत्नानीह चतुर्दश प्रतिदिनं कुर्यात्सदा मंगलम्।   समुद्र मंथन का रहस्य – धार्मिक मान्यताओं के अनुसार समुद्र मंथन क्षीरसागर में हुआ था।जिस…

द्रौपदी के बारे में कुछ रोचक तथ्य

द्रौपदी के बारे में कुछ रोचक तथ्य

On

महाकाव्य महाभारत की नायिका द्रौपदी के विषय में भारतवर्ष में ऐसे बहुत कम लोग होंगे, जो नहीं जानते होंगे। किन्तु फिर भी, जिस द्रौपदी को हम जानते हुए बड़े हुए हैं, जिसके रूप को TV पर देखा है या उपन्यासों में पढ़ा…

मन्वन्तर क्या हैं?

मन्वन्तर क्या हैं?

On

मन्वन्तर एक संस्कॄत शब्द है, जिसका संधि-विच्छेद करने पर = मनु+अन्तर मिलता है। इसका अर्थ है मनु की आयु. प्रत्येक मन्वन्तर एक विशेष मनु द्वारा रचित एवं शासित होता है, जिन्हें ब्रह्मा द्वारा सॄजित किया जाता है। मनु विश्व की और सभी…

क्या सीखें रामायण में वर्णित शबरी प्रसंग से

क्या सीखें रामायण में वर्णित शबरी प्रसंग से

On

त्याग, संघर्षपूर्ण जीवन, नि: स्वार्थ सेवा और निष्काम भक्ति रामायण और रामचरित मानस में भगवान श्रीराम की वनयात्रा में माता शबरी का प्रसंग सर्वाधिक भावपूर्ण है। भक्त और भगवान के मिलन की इस कथा को गाते सुनाते बड़े-बड़े पंडित और विद्वान भाव…

महान योद्धा – सहस्त्रार्जुन

महान योद्धा – सहस्त्रार्जुन

On

राम ने रावण को युद्ध में परास्त किया था ये तो सब जानते हैं लेकिन राम से पहले भी एक योद्धा ने युद्ध के दौरान रावण को परास्त किया था। उस सहस्त्रार्जुन को महाराज कार्तवीर्य अर्जुन भी कहा जाता है। चंद्रवंशी क्षत्रियों…

कुम्भ का मेला क्यों आयोजित किया जाता है?

कुम्भ का मेला क्यों आयोजित किया जाता है?

On

कुम्भ का शाब्दिक अर्थ है कलश और यहाँ ‘कलश’ का सम्बन्ध अमृत कलश से है। बात उस समय की है जब देवासुर संग्राम के बाद दोनों पक्ष समुद्र मंथन को राजी हुए थे। मथना था समुद्र तो मथनी और नेति भी उसी…

ऐसे वैज्ञानिक आविष्कार जो हजारों साल पहले हुए

ऐसे वैज्ञानिक आविष्कार जो हजारों साल पहले हुए

On

भारत की धरती को ऋषि, मुनि, सिद्ध और देवताओं की भूमि पुकारा जाता है। यह कई तरह के विलक्षण ज्ञान व चमत्कारों से अटी पड़ी है। प्राचीन ऋषि-मुनियों ने घोर तप, कर्म, उपासना, संयम के जरिए वेद में छिपे इस गूढ़ ज्ञान…

मकर संक्रांति – सिंह पर सवार सर्वार्थामृत सिद्धि-रवि-अश्विन मंगल योग में

मकर संक्रांति – सिंह पर सवार सर्वार्थामृत सिद्धि-रवि-अश्विन मंगल योग में

On

14 जनवरी को रात्रि 2.21 बजे धनु से मकर राशि में सूर्य का प्रवेश भोपाल। मां चामुंडा दरबार के पुजारी गुरूजी पंडित रामजीवन दुबे एवं ज्योतिषाचार्य विनोद रावत ने बताया कि पौष शुक्ल पक्ष अष्टमी सोमवार 14 जनवरी रात्रि 2.21 बजे सूर्य…