सुंदर लगना आकर्षक लगना कौन नहीं चाहता हैं सबके अंदर एक लालसा एक इच्छा होती हैं कि वह दुनिया में सबसे आकर्षक दिखें चलिए दुनिया में न सही कम से कम अपने कार्य स्थल, रिश्तेदारों, महोल्ले में। किंतु जब आवश्यकता की अति हो जाए तो लालच बन जाता हैं और यह लालच कभी कभी इंसान को डूबा देता हैं ऐसा ही हाल बॉलीवुड में अभिनेता/ अभिनेत्रियों का हैं। ऐसा नहीं है की आज के कलाकार ही ये काम कर रहे है बल्कि पुराने ज़माने के भी एक्टर भी इस को अपनाते थे. पुराने जमाने में मुमताज़ ने अपनी छोटी नाक की सर्जरी करवाई थी ताकि चेहरे और नाक का अनुपात सही हो। आज ऐश्वर्या राय, प्रियंका चोपड़ा, अनुष्का शर्मा, प्रीती जिंटा, कैटरीना कैफ ,श्री देवी, इन सब लोगों ने अपनी मुस्कराहट तो, कुछ ने अपनी चिक, को बेहतर बनाने के लिए सर्जरी करवाई। कई बार तो परिणाम अच्छे की जगह खराब भी दिखाई देता है। ऊपर के चित्रों मे अंतर साफ नजर आता है । मुझे तो यही लग रहा है कि सर्जरी के पहले भी इनकी खूबसूरती में कोई कमी नहीं थी। अब सवाल यह है कि हमें अपनी दिखावट को सुधारने के लिए सर्जरी का सहारा लेना चाहिए या नही ? इस बारे में मेरी यही राय है कि ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि प्रकृति ने जो हमें दिया है ,हम उसे ही खूबसूरत रख सकते हैं। सर्जरी के द्वारा कब तक हम दिखावटी जीवन जी सकते हैं ? हमें उम्र के हर पड़ाव को स्वीकार करना चाहिए। अच्छी सूरत,अच्छा शरीर इंसान के अच्छे होने का कोई प्रमाण नहीं होता है। जो इस व्यवसाय में आते हैं उनको ईश्वर ने काफ़ी हद तक आकर्षक रूप दिया होता हैं और जिनको नहीं दिया होता वह केवल अपनी कला से आकर्षक लगते हैं इस ग्लैमर भरी दुनिया में छोटे मोटी सर्जरी तो ठीक हैं कोई दाग हटाना हो या वसा कम करनी हो जितनी ज़रूरत हो व्यक्ति को सुंदर दिखने के लिए यदि प्राकृतिक सुंदरता नहीं हैं और व्यवसाय की मांग हैं, किन्तु जब यह लालच का रूप ले लेती हैं कि पैसा हैं तो बस कुछ ना कुछ छेड़खानी करनी हैं शरीर के साथ फ़िर वह गलत हैं और इसका भयंकर रूप भी सामने आता हैं जब सर्जरी गलत हो जाती हैं सुंदरता तो छोड़ो अपनी अच्छी खासी शक्ल का हुलिया बिगाड़ देते हैं प्राकृतिक सुंदरता को कृत्रिम रूप से नष्ट कर देते हैं। दुनिया में समस्या यह है कि हम सभी को लगता है कि हमारे पास नैतिक उच्च भूमि है। हम उन लोगों की आलोचना करने के हकदार महसूस करते हैं जिनके जैसा हम खुद बनना और मशहूर होना चाहते हैं।  
images source : google.com
"/>
क्या सर्जरी करना सही है या नहीं
Spread the love

सर्जरी द्वारा अपनी सुन्दरता को लगातार सुधारते रहना सही है ?

Bollwood के अभिनेता या अभिनेत्रियाँ जिनकी पहचान उनके खूबसूरत चेहरे और शरीर से होती है। उनके लिए खूबसूरत चेहरा और शरीर उनके लिए assets का काम करता है। अच्छे अभिनय के साथ साथ खूबसूरत चेहरा हर अभिनेता का कमाई का महत्वपूर्ण जरिया होता है। जैसे जैसे उनकी उम्र बढ़ती है ,खासकर अभिनेत्रियों की, तो अपने चेहरे और शरीर को फिट रखना उनकी जरूरत बन जाती है। उनके काम के लिए उनका खूबसूरत दिखना एक मापदंड होता है, जिसके लिए वे कुछ भी करने को तैयार रहती है,लेकिन यह नहीं सोंचतीं हैं कि ईश्वर के दिए हुए रूप को बदल कर वो अपनी मासूमियत खो रहीं हैं।

क्या सर्जरी करना सही है या नहीं 1

सुंदर लगना आकर्षक लगना कौन नहीं चाहता हैं सबके अंदर एक लालसा एक इच्छा होती हैं कि वह दुनिया में सबसे आकर्षक दिखें चलिए दुनिया में न सही कम से कम अपने कार्य स्थल, रिश्तेदारों, महोल्ले में। किंतु जब आवश्यकता की अति हो जाए तो लालच बन जाता हैं और यह लालच कभी कभी इंसान को डूबा देता हैं ऐसा ही हाल बॉलीवुड में अभिनेता/ अभिनेत्रियों का हैं।

क्या सर्जरी करना सही है या नहीं 2

ऐसा नहीं है की आज के कलाकार ही ये काम कर रहे है बल्कि पुराने ज़माने के भी एक्टर भी इस को अपनाते थे. पुराने जमाने में मुमताज़ ने अपनी छोटी नाक की सर्जरी करवाई थी ताकि चेहरे और नाक का अनुपात सही हो। आज ऐश्वर्या राय, प्रियंका चोपड़ा, अनुष्का शर्मा, प्रीती जिंटा, कैटरीना कैफ ,श्री देवी, इन सब लोगों ने अपनी मुस्कराहट तो, कुछ ने अपनी चिक, को बेहतर बनाने के लिए सर्जरी करवाई।

कई बार तो परिणाम अच्छे की जगह खराब भी दिखाई देता है। ऊपर के चित्रों मे अंतर साफ नजर आता है । मुझे तो यही लग रहा है कि सर्जरी के पहले भी इनकी खूबसूरती में कोई कमी नहीं थी।

क्या सर्जरी करना सही है या नहीं 3

अब सवाल यह है कि हमें अपनी दिखावट को सुधारने के लिए सर्जरी का सहारा लेना चाहिए या नही ?

इस बारे में मेरी यही राय है कि ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि प्रकृति ने जो हमें दिया है ,हम उसे ही खूबसूरत रख सकते हैं। सर्जरी के द्वारा कब तक हम दिखावटी जीवन जी सकते हैं ? हमें उम्र के हर पड़ाव को स्वीकार करना चाहिए। अच्छी सूरत,अच्छा शरीर इंसान के अच्छे होने का कोई प्रमाण नहीं होता है। जो इस व्यवसाय में आते हैं उनको ईश्वर ने काफ़ी हद तक आकर्षक रूप दिया होता हैं और जिनको नहीं दिया होता वह केवल अपनी कला से आकर्षक लगते हैं

क्या सर्जरी करना सही है या नहीं 4

इस ग्लैमर भरी दुनिया में छोटे मोटी सर्जरी तो ठीक हैं कोई दाग हटाना हो या वसा कम करनी हो जितनी ज़रूरत हो व्यक्ति को सुंदर दिखने के लिए यदि प्राकृतिक सुंदरता नहीं हैं और व्यवसाय की मांग हैं,

किन्तु जब यह लालच का रूप ले लेती हैं कि पैसा हैं तो बस कुछ ना कुछ छेड़खानी करनी हैं शरीर के साथ फ़िर वह गलत हैं और इसका भयंकर रूप भी सामने आता हैं जब सर्जरी गलत हो जाती हैं सुंदरता तो छोड़ो अपनी अच्छी खासी शक्ल का हुलिया बिगाड़ देते हैं प्राकृतिक सुंदरता को कृत्रिम रूप से नष्ट कर देते हैं।

क्या सर्जरी करना सही है या नहीं 5

दुनिया में समस्या यह है कि हम सभी को लगता है कि हमारे पास नैतिक उच्च भूमि है। हम उन लोगों की आलोचना करने के हकदार महसूस करते हैं जिनके जैसा हम खुद बनना और मशहूर होना चाहते हैं।

 

images source : google.com

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *