कुछ हिस्सों पे हम आज बात करने जा रहे हैं :-

सबसे पहले हम बाते करते हैं रसोई का सिंक

रसोई का सिंक जिसमें आप बर्तन की सफाई करते हैं। हम बर्तन धाने से अपने हाथ धोने तक यह सोचते हैं कि हमने सिंक को पूरी तरह से साफ कर दिया है। परंतु हम यह नहीं जानते हैं कि सिंक में छूपे खाने का कुछ हिस्सा गंदगी का न्यौता देता है जो आगे जाकर बीमारी का कारण बनता है। सिंक ऐसी जगह है जो देखने में तो साफ लगती है परंतु उतनी साफ नहीं होती जितनी होना चाहिए। इसलिए सिंक को अच्छी तरह से साफ करना जरूरी होता है। हो सके तो रात को सोने से पहले सिंक में लगभग आधा या उससे थोड़ा ज्यादा गरम पानी भर दें, अब प्लंजर को सिंक के मूंह पर रख कर हल्का से दबाब डालें, फिर प्लंजर को खींचकर ऊपर लाएं जिससे फंसा हुआ कचरा बाहर निकल जाए, अब देखें की पानी जमा पानी तेजी से निकल रहा है या नहीं, यदि तेजी से निकल रहा है तो समझिए आपकी मेहनत रंग लाई, मतलब सिंक का रास्ता अब साफ है।  

अब बात करते हैं हम फर्श की

खाना बनाते समय आटा, नमक या कोई और मसाला फैल जाता है जिससे छोटी - छोटी चिटिंया या न दिखने वाले कीड़े वहां मंडराना शुरू कर देते हैं। ये कीड़े या चींटी हमारे खाने में मिल जाती हैं जो कि खाने को दूषित करती हैं। इनको ध्यान में रखना जरूरी होता है। फर्श को तौलिए या किसी गंदे कपड़े से साफ न करें। फर्श को हमेशा कीटनाशक को पानी में मिलाकर साफ करें और फिर दोबारा साफ पानी से अच्छे से साफ करें।  

हम भूल गये किचन की सबसे जरूरी जगह किचन काउंटर

काउंटर ऐसी जगह है यहां हमारा सामान फैला रहता है, काउंटर पर आपने ध्यान दिया होगा कि काउंटर हमेशा पहले से चिकनाई भरा होता है तो इसे साफ करने में हमें कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए। कहना का तात्पर्य यह है कि काउंटर को साफ करना मुश्किल नहीं होता है इसलिए काउंटर को साफ करते रहिए। हम छोटी - छोटी चीजों पर ध्यान देना भूल जाते हैं, यह छोटी - छोटी चींजें ही होती है जो हमारे रहन सहन पर अच्छा या बुरा असर डालती हैं। इन छोटी चीजों पर थोड़ा ध्यान दें तो हम बीमारियों से बचे रह सकते हैं।   -शिखा द्विवेदी"/>
स्वास्थ्य के लिए अनिवार्य – रसोई की नियमित सफाई
Spread the love

सफाई को लेकर आप कितनी सजग हैं, हम गृहणी कितनी भी सफाई कर लें लेकिन घर के कुछ हिस्से ऐसे होतें हैं जिनमें सफाई रह जाती है। किचन हमारे घर का वो हिस्सा है जिसकी सफाई रोजाना कम से कम से दो बार तो होती है फिर भी कहीं न कहीं सफाई की जरूरत होती है। किचन ऐसी जगह है यहां सफाई रहना जरूरी भी होता है।
किचन की नियमित सफाई होती रहे तो हम खुद को और अपने परिवार को बीमार होने से बचा सकते हैं। किचन की सफाई का हमें ज्यादा ध्यान रखना चाहिए। रसाईघर में कुछ हिस्से ऐसे होते हैं जिन पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है।

स्वास्थ्य के लिए अनिवार्य - रसोई की नियमित सफाई 1

 

कुछ हिस्सों पे हम आज बात करने जा रहे हैं :-

सबसे पहले हम बाते करते हैं रसोई का सिंक

रसोई का सिंक जिसमें आप बर्तन की सफाई करते हैं। हम बर्तन धाने से अपने हाथ धोने तक यह सोचते हैं कि हमने सिंक को पूरी तरह से साफ कर दिया है। परंतु हम यह नहीं जानते हैं कि सिंक में छूपे खाने का कुछ हिस्सा गंदगी का न्यौता देता है जो आगे जाकर बीमारी का कारण बनता है। सिंक ऐसी जगह है जो देखने में तो साफ लगती है परंतु उतनी साफ नहीं होती जितनी होना चाहिए। इसलिए सिंक को अच्छी तरह से साफ करना जरूरी होता है। हो सके तो रात को सोने से पहले सिंक में लगभग आधा या उससे थोड़ा ज्यादा गरम पानी भर दें, अब प्लंजर को सिंक के मूंह पर रख कर हल्का से दबाब डालें, फिर प्लंजर को खींचकर ऊपर लाएं जिससे फंसा हुआ कचरा बाहर निकल जाए, अब देखें की पानी जमा पानी तेजी से निकल रहा है या नहीं, यदि तेजी से निकल रहा है तो समझिए आपकी मेहनत रंग लाई, मतलब सिंक का रास्ता अब साफ है।

 

अब बात करते हैं हम फर्श की

खाना बनाते समय आटा, नमक या कोई और मसाला फैल जाता है जिससे छोटी – छोटी चिटिंया या न दिखने वाले कीड़े वहां मंडराना शुरू कर देते हैं। ये कीड़े या चींटी हमारे खाने में मिल जाती हैं जो कि खाने को दूषित करती हैं। इनको ध्यान में रखना जरूरी होता है। फर्श को तौलिए या किसी गंदे कपड़े से साफ न करें। फर्श को हमेशा कीटनाशक को पानी में मिलाकर साफ करें और फिर दोबारा साफ पानी से अच्छे से साफ करें।

 

हम भूल गये किचन की सबसे जरूरी जगह किचन काउंटर

काउंटर ऐसी जगह है यहां हमारा सामान फैला रहता है, काउंटर पर आपने ध्यान दिया होगा कि काउंटर हमेशा पहले से चिकनाई भरा होता है तो इसे साफ करने में हमें कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए। कहना का तात्पर्य यह है कि काउंटर को साफ करना मुश्किल नहीं होता है इसलिए काउंटर को साफ करते रहिए।

हम छोटी – छोटी चीजों पर ध्यान देना भूल जाते हैं, यह छोटी – छोटी चींजें ही होती है जो हमारे रहन सहन पर अच्छा या बुरा असर डालती हैं। इन छोटी चीजों पर थोड़ा ध्यान दें तो हम बीमारियों से बचे रह सकते हैं।

 

-शिखा द्विवेदी

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *