Ignore न करें कान का दर्द
Spread the love

क्या आपको कान में दर्द या खुजली रहती है?

क्या आप रात में उठ-उठ कर कान खुजाते है?

तो आपको एक बार जरूर डॉक्टर के पास जाकर कान की जाँच करवा लेना चाहिए, क्यूंकि कान का दर्द किसी संक्रमण की वजह से हो सकता है इसलिए देर मत कीजिये कान के दर्द को नज़रअंदाज न करें. और बिना किसी देरी के डॉक्टर के पास जाकर सही जाँच करवाए. कान के संक्रमण को गंभीरता से लेके इसका इलाज एंटीबायोटिक्स या ईएनटी विशेषज्ञ द्वारा करवाना जाना चाहिए। आपको बच्चों और वयस्कों दोनों में कान के संक्रमण को रोकने के लिए उचित देखभाल भी करनी चाहिए।

बच्चों और वयस्कों दोनों कान का संक्रमण को देखा जाता है, छोटे बच्चों मतलब 6 महीने से 2 साल की उम्र के बच्चों में कानों में संक्रमण की आशंका अधिक होती है, जो शिशु स्तनपान करते हैं, उनकी तुलना में जो शिशु बोतल से दूध पीते हैं, विशेष रूप से लेटते समय, उन बच्चों को कान के संक्रमण अधिक होते हैं. वैसे तो कान का संक्रमण ज्यादा ठंड या गले में खराश या कफ जमने से हो सकता है. मगर यदि ये संक्रमण किसी जीवाणु और वायरल संक्रमण के कारण होता है तो लापरवाही न करे.

कान के संक्रमण के निम्न लक्षण हैं, जैसे

  • उल्टी,
  • सिरदर्द,
  • चक्कर आना,
  • कान की सूजन और जलन

कान में संक्रमण न इसके लिए कुछ जरुरी सावधानी रखना चाहिए. यहाँ कुछ जरुरी सावधानिया बताने जा रही हूँ जो की एक ईएनटी विशेषज्ञ द्वारा बतलाई गई थी.

  • कानो को पानी से सुरक्षित रखें ख़ास तौर पर शॉवर लेते समय
  • आपको किसी चीज़ से एलर्जी हो तो एलर्जी की नियमति दवाई लेती रहें, क्यूंकि ये ही एलर्जी कफ या बलगम बनता है।
  • खांसी और अन्य सांस की समस्या होने पर फ़ौरन इसका इलाज़ करे.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *