क्या है कोलेस्ट्रॉल -

कोलेस्ट्रॉल मोम जैसा एक पदार्थ होता है, जो यकृत से उत्पन्न होता है। यह सभी पशुओं और मनुष्यों के कोशिका झिल्ली समेत शरीर के हर भाग में पाया जाता है। कोलेस्ट्रॉल कोशिका झिल्ली का एक महत्वपूर्ण भाग है, जहां उचित मात्रा में पारगम्यता और तरलता स्थापित करने में इसकी आवश्यकता होती है। कोलेस्ट्रॉल शरीर में विटामिन डी, हार्मोन्स और पित्त का निर्माण करता है, जो शरीर के अंदर पाए जाने वाले वसा को पचाने में मदद करता है। कोलेस्ट्रॉल रक्त में घुलनशील नहीं होता है। उसका कोशिकाओं तक एवं उनसे वापस परिवहन लिपोप्रोटींस नामक वाहकों द्वारा किया जाता है।

उच्च घनत्व लिपोप्रोटीन (हाई डेनसिटी लिपोप्रोटीन्स) को अच्छा कोलेस्ट्रॉल माना जाता है। ये यकृत द्वारा बनाए ही जाते हैं। यकृत कोलेस्ट्रॉल और पित्त को ऊतकों और इंद्रियों से पुनष्चक्रित करने के वापस लिवर में पहुंचाता है। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा का अधिक होना एक अच्छी बात है, क्योंकि इससे हृदय के स्वस्थ होने के संकेत मिलते हैं।

अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का एक तरीका -

अच्छे कोलेस्ट्रॉल के लिए मछली का तेल, सोयाबीन उत्पाद, एवं हरी पत्तेदार सब्जियां अच्छा विकल्प हैं। हफ्ते में कम से कम पांच दिन, लगभग तीस मिनट के लिए व्यायाम जैसे पैदल चलना, दौड़ना, सीढ़ी चढ़ना आदि करने से मात्र दो महीनों में एचडीएल पांच प्रतिशत तक बढ़ाया जा सकता है। धूम्रपान कम या बंद करने मात्र से एचडीएल दस प्रतिशत तक बढ़ सकता है। वजन कम करना भी अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का एक तरीका है। शरीर का वजन प्रत्येक छ: पाउण्ड (करीब 2.72 किलोग्राम) कम करने पर शरीर में अच्छा कोलेस्ट्रॉल एक मिली ग्राम/डेसि.लि. तक बढ़ा सकते हैं।

शुगर का कम उपयोग -

शुगर का कम से कम उपयोग करें। यह मोटापा घटाने में भी आपकी मदद करेगा।यदि आपको खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करना है तो अखरोट और बादाम जैसी सूखी मेवा खूब खाएं। इससे रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है।

लहसुन -

लहसुन में कई ऐसे एंजाइम्स पाए जाते हैं, जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार साबित होते हैं। वैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार लहसुन के नियमित सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर 9 से 15 प्रतिशत तक घट सकता है। इसके अलावा यह हाई ब्लडप्रेशर को भी नियंत्रित करता है। प्रतिदिन लहसुन की दो कलियां छीलकर खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

नीबू -

नीबू सहित सभी खट्टे फलों में कुछ ऐसे घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं, जो स्टमक (खाने की थैली) में ही बैड कोलेस्ट्रॉल को रक्त प्रवाह में जाने से रोक देते हैं। ऐसे फलों में मौजूद विटमिन सी रक्तवाहिका नलियों की सफाई करता है। इस तरह बैड कोलेस्ट्रॉल पाचन तंत्र के जरिये शरीर से बाहर निकल जाता है। खट्टे फलों में ऐसे एंजाइम्स पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया तेज करके कोलेस्ट्रॉल घटाने में सहायक होते हैं। इसलिए ध्यान रखें गुनगुने पानी के साथ सुबह खाली पेट एक नीबू के रस का सेवन करें।

"/>
शरीर को कैसे फायदा करता है कोलेस्ट्रॉल?
Spread the love

क्या है कोलेस्ट्रॉल –

कोलेस्ट्रॉल मोम जैसा एक पदार्थ होता है, जो यकृत से उत्पन्न होता है। यह सभी पशुओं और मनुष्यों के कोशिका झिल्ली समेत शरीर के हर भाग में पाया जाता है। कोलेस्ट्रॉल कोशिका झिल्ली का एक महत्वपूर्ण भाग है, जहां उचित मात्रा में पारगम्यता और तरलता स्थापित करने में इसकी आवश्यकता होती है। कोलेस्ट्रॉल शरीर में विटामिन डी, हार्मोन्स और पित्त का निर्माण करता है, जो शरीर के अंदर पाए जाने वाले वसा को पचाने में मदद करता है। कोलेस्ट्रॉल रक्त में घुलनशील नहीं होता है। उसका कोशिकाओं तक एवं उनसे वापस परिवहन लिपोप्रोटींस नामक वाहकों द्वारा किया जाता है।

उच्च घनत्व लिपोप्रोटीन (हाई डेनसिटी लिपोप्रोटीन्स) को अच्छा कोलेस्ट्रॉल माना जाता है। ये यकृत द्वारा बनाए ही जाते हैं। यकृत कोलेस्ट्रॉल और पित्त को ऊतकों और इंद्रियों से पुनष्चक्रित करने के वापस लिवर में पहुंचाता है। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा का अधिक होना एक अच्छी बात है, क्योंकि इससे हृदय के स्वस्थ होने के संकेत मिलते हैं।

अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का एक तरीका –

अच्छे कोलेस्ट्रॉल के लिए मछली का तेल, सोयाबीन उत्पाद, एवं हरी पत्तेदार सब्जियां अच्छा विकल्प हैं। हफ्ते में कम से कम पांच दिन, लगभग तीस मिनट के लिए व्यायाम जैसे पैदल चलना, दौड़ना, सीढ़ी चढ़ना आदि करने से मात्र दो महीनों में एचडीएल पांच प्रतिशत तक बढ़ाया जा सकता है। धूम्रपान कम या बंद करने मात्र से एचडीएल दस प्रतिशत तक बढ़ सकता है। वजन कम करना भी अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का एक तरीका है। शरीर का वजन प्रत्येक छ: पाउण्ड (करीब 2.72 किलोग्राम) कम करने पर शरीर में अच्छा कोलेस्ट्रॉल एक मिली ग्राम/डेसि.लि. तक बढ़ा सकते हैं।

शुगर का कम उपयोग –

शुगर का कम से कम उपयोग करें। यह मोटापा घटाने में भी आपकी मदद करेगा।यदि आपको खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करना है तो अखरोट और बादाम जैसी सूखी मेवा खूब खाएं। इससे रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है।

लहसुन –

लहसुन में कई ऐसे एंजाइम्स पाए जाते हैं, जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार साबित होते हैं। वैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार लहसुन के नियमित सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर 9 से 15 प्रतिशत तक घट सकता है। इसके अलावा यह हाई ब्लडप्रेशर को भी नियंत्रित करता है। प्रतिदिन लहसुन की दो कलियां छीलकर खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

नीबू –

नीबू सहित सभी खट्टे फलों में कुछ ऐसे घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं, जो स्टमक (खाने की थैली) में ही बैड कोलेस्ट्रॉल को रक्त प्रवाह में जाने से रोक देते हैं। ऐसे फलों में मौजूद विटमिन सी रक्तवाहिका नलियों की सफाई करता है। इस तरह बैड कोलेस्ट्रॉल पाचन तंत्र के जरिये शरीर से बाहर निकल जाता है। खट्टे फलों में ऐसे एंजाइम्स पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया तेज करके कोलेस्ट्रॉल घटाने में सहायक होते हैं। इसलिए ध्यान रखें गुनगुने पानी के साथ सुबह खाली पेट एक नीबू के रस का सेवन करें।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *