हम आप को बताते हैं, कैसे बनें अच्छी बैटरहाफ
Spread the love

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में पतिपत्नी के बीच के प्यार का खो जाना स्वाभाविक है. पतिपत्नी दोनों ही अपनेअपने काम और जिम्मेदारियों में इतने व्यस्त रहते हैं कि जिंदगी एक मशीन की तरह हो जाती है. हैरानी की स्थिति तो तब होती है, जब शादी के कुछ महीनों बाद ही दोनों एकदूसरे को समझ नहीं पाते और दूरियां बढ़ने लगती हैं. देव ने जब अपनी नई जौब शुरू की तो महीनों तक कड़ी मेहनत की. दिनरात सिर्फ अपनी जौब में बिजी रहता. देर रात तक घर आ पाता था. ऐसे में अगर उसे अपनी पत्नी सिमरन का साथ न मिला होता तो शायद मंजिल पाना आसान न होता. सिमरन ने न सिर्फ पत्नी, बल्कि एक दोस्त बन कर भी उस के हर कदम में और हर फैसले में उस का साथ निभाया.

सपोर्टिव भी हो: आमतौर पर पत्नियां सोचती हैं कि पति को पत्नी का रूपशृंगार, पहनावा, प्यार और मीठे बोल पसंद होते हैं, लेकिन क्या सिर्फ यही बातें उसे पसंद होती हैं? बेशक, एक पति अपनी पत्नी की नैचुरल सुंदरता के साथसाथ साजशृंगार और शालीनता का भी इच्छुक होता हो, पर साथ ही वह पत्नी की सादगी, अनुकूलता, प्रेम की गहराई और साथ निभाने वाली खूबियां भी पसंद करता है. वह चाहता है उस की जीवनसंगिनी सिर्फ नाम की ही संगिनी न हो कर समझदार, भावनाओं को समझने वाली, उस के सुखदुख में साथ निभाने वाली सपोर्टिव साथी भी हो. बनावटीपन नहीं हो गहराई: पतिपत्नी का रिश्ता तभी सफल होता है जब दोनों के बीच अपनापन हो न कि बनावटीपन. पति को यह महसूस होना चाहिए कि उस की पत्नी जीवन की हर मुश्किल में उस का साथ निभाएगी. पत्नी का प्यारभरा साथ, उस की जरूरतों को समझने की शक्ति और विश्वास ही एक पति का सहारा होता है, जिस के दम पर वह दुनिया की तमाम उलझनों को आसानी से सुलझा सकता है.

आपसी समझ: इस रिश्ते में आपसी समझ और विश्वास बहुत जरूरी है. एक पत्नी भी चाहती है कि पति उस की भावनाओं को समझे और ऐसा सहारा बने जिस के साथ वह दुनिया की हर चुनौती का मुकाबला कर सके. मगर यह वन वे नहीं, समझदारी सिर्फ पत्नी ही दिखाए तब कदमताल बिगड़ जाएगी. इसलिए एकदूसरे के साथ कदम से कदम मिला कर चलें और जीवन की सारी परेशानियों के बोझ को आसानी से उतार फेंकें. जरूरतों को समझें: बहुत से पतिपत्नी सालों तक एकदूसरे की जरूरतों और भावनाओं को नहीं समझ पाते, जिस से उन के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं. एक छत के नीचे रहते हुए भी वे एकदूसरे के लिए अजनबी बने रहते हैं. मानसिकरूप से त्रस्त रहते हैं.

यदि आप पति की बैटरहाफ बनना चाहती हैं तो पति की पसंद और नापसंद का ध्यान रखें. इसे कहीं आप सिर्फ खाना या पहनना ही तो नहीं समझ रही हैं? मैं जिस पसंद और नापसंद की बात कर रही हूं वह है पैशन और विचार. उन के पैशन को पूरा करने में उन की साथी बनें जैसे, यदि वे लेखक हैं, तो उन की कलम को कुछ नया लिखने की शक्ति उन्हें आप से मिले. उन की राजनीति में दिलचस्पी है, तो आप भी अपनी जानकारी बढ़ाएं और उन के साथ राजनीति पर बातें करें. यदि उन्हें क्रिकेट का खेल पसंद है, तो आप भी उस में दिलचस्पी लें और जब भी वे टूर पर हों तो समयसमय पर उन्हें स्कोर अपडेट करें. यकीन मानिए, इस से आप दोनों के बीच विश्वास बढ़ेगा और जीवन सुखमय हो जाएगा. उन के धनी होने का हर समय दिखावा न करें और न ही उन की कम आमदनी होने पर असंतोष या मजाक उड़ाएं.

खालीपन भरें: कहने का मतलब यह है कि अपने पति के जीवन का हर खालीपन भरें. आप का सच्चा प्यार और साथ उन के जीवन की हर कमी को दूर करेगा. इसी में जीवन का आनंद है. जीवन में हर मोड़ पर अच्छे और बुरे दिन आतेजाते रहते हैं. एकदूसरे पर भरोसा मुश्किल हालत में भी हारने नहीं देगा. तब वे भी इतराते हुए कह उठेंगे मेड फौर ईचअदर. बेतकल्लुफ हो उल्लास: जीवनसाथी के साथ गम बांटने में जितना सुकून मिलता है, उस से कहीं ज्यादा मजा उस के साथ अपनी हंसी बांटने में आता है. अगर आप के पास एक बेहतरीन लाइफपार्टनर का साथ है तो फिर जिंदगी की हर छोटी से छोटी खुशी में भी आप बहुत ही बेतकल्लुफ हो उल्लास के साथ हंसेंगे.

एकदूसरे से सीख सकते हैं: अगर आप की जिंदगी में एक अच्छी महिला पत्नी के रूप में आती है, तो आप के लिए यह बहुत ही फायदेमंद है, क्योंकि आप उस से बहुत कुछ सीख सकते हैं. आप दोनों एकदूसरे से खुले रहेंगे, जिस कारण आप दोनों के बीच बेहतर कम्यूनिकेशन होगा, जिस से आप दोनों एकदूसरे से बहुत कुछ सीख और समझ सकते हैं. दो जिस्म एक जान: पतिपत्नी को यों ही दो जिस्म एक जान नहीं कहा जाता है. एक सच्ची और अपनेपन से युक्त महिला अगर किसी पुरुष की जिंदगी में आएगी तो वह हमेशा चाहेगी कि उस का जीवनसाथी हमेशा तरक्की करे. आप की जीवनसाथी में भी ऐसी ही खूबियां हैं, तो जाहिर तौर पर आप दोनों के जीवन का लक्ष्य अलगअलग होने के बजाय एक ही होगा.

2 मिनट नूडल वाला प्यार तो बाहरी दिखावे पर चल सकता है पर जिंदगी उसी के साथ खुशीखुशी व्यतीत होती है, जिस में ये सारी खूबियां होती हैं. ऐसी खूबियां सिर्फ लड़कों के लिए ही नहीं लड़कियों के लिए भी जरूरी हैं. रिश्ते के दोनों पहिए बराबर होंगे तभी रिश्ते की गाड़ी दूर तक चलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *