धूम्रपान छोड़ने का आसान तरीका क्या है ?
Spread the love

धूम्रपान छोड़ने का आसान तरीका क्या है ?

how to quit smoking in Hindi –हम धूम्रपान को अपनी ज़िंदगी में ऐसे शामिल कर लिया जैसे वो हमारी ज़िंदगी का एक खास हिस्सा है. दोपहर के खाने के बाद ऑफिस से बाहर निकलकर सिगरेट पीना फिर शाम को घर आकर खाना खाकर या बीयर के साथ-साथ सिगरेट पीना, जरा सा भी तनाव होने पर सिगरेट को जलना और सबसे ज्यादा लोगों के साथ गप्पें मारते हुए सिगरेट पीना ये सारे के सारे काम पुरुषों में देखे जाते हैं. मगर अब ये ही हालात महिलाओं के होते जा रहे हैं. हालाँकि पुरुषों की तरह बहुत अधिक धूम्रपान की लत महिलाओं को काफी बाद में लगी, फिर भी लगी तो.

अब प्रश्न उठता है कि क्या हम धूम्रपान को छोड़ नहीं सकते. वैसे एक दिन में इसकी आदत कभी नहीं छूटती। लेकिन हमको छोड़ना तो है क्यूंकि हमारे साथ-साथ हमारे बच्चों पर भी इसका असर होता है. अपने लिए न सही कम से कम अपने परिवार के लिए तो छोड़ ही सकते हैं. मगर सिगरेट पीने के कुछ फ़ायदे होते हैं. आप किसी ख़ास समूह का हिस्सा बन जाते हैं. कुछ ख़ास लोगों के क़रीब आ जाते हैं.

धूम्रपान कैसे छोड़े – how to quit smoking in hindi

यदि आप सिगरेट या बीड़ी छोड़ने के कई असफल प्रयास कर चुके हैं तो एक बार फिर से कोशिश करें और सफलता पाएं.

इसके लिए कुछ बातों का ध्यान रखें.

  • सर्वप्रथम अपने-आप पर पूर्ण भरोसा रखें. इस विश्वास के साथ प्रयास करें कि आप को छोड़ने में धूम्रपान सफल ही होंगे। क्योंकि धूम्रपान को छोड़ने में सबसे ज्यादा मस्तिक साथ देता है. इसलिए अपने दिमाग को इसके लिए तैयार कर लें.
  • तंबाकू के दुष्प्रभावों के सेवन से चेहरे की रौनक चली जाती है.
  • धूम्रपान हृदय और फेफड़ों को प्रभावित करता है. इसके सेवन से केवल आप ही नहीं बल्कि पूरे परिवार पर इसका बुरा असर पड़ता है.
  • आप अपनी कल्पना धूम्रपान न करने वाले व्यक्ति के रूप में करें.
  • आप किसी सहायता समूह में शामिल हो जाए, इससे हालात से जूझने में मदद मिल सकती है.
  • संतरा, नीबू, आवंला और अमरुद की अधिक मात्रा लेने से सिगरेट पीने की इच्छा कम हो जाती है.
  • अधिक सब्जियां, फल, प्रोटीन खाने की कोशिश करें.
  • डेली रूटीन में योगा और मेडिटेशन को शामिल करें.
  • आपको धूम्रपान छोड़ने के आपके कारणों की सूची बनाये और उसे बार-बार पढ़ते रहें.
  • धूम्रपान छोड़ने की कोशिश के दौरान इ-सिगरेट का इस्तेमाल करें.
  • कैफीन (caffeine) लेने की मात्रा कम करे

जिन लोगों को विशेष रूप से इस उपचार से बचना चाहिए वे हैं:

  • गर्भवती महिला
  •  18 साल से कम उम्र के बच्चे
  •  स्तनपान कराने वाली महिलाएं
  • किडनी की समस्या से जूझ रहे लोग
  • जो लोग मिर्गी और खाने के विकार जैसी समस्याओं का सामना करते हैं

धूम्रपान बंद करने पर क्या होता है –

धूम्रपान बंद करने पर निम्न परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है जैसे – नींद आने में दिक्कत, चिडचिडापन, थकान, बेचैनी, मूड अजीब होना, उंगलियाँ पीली पड़ना, अवसाद, सोचने में और काम करने में ध्यान न लग पाना ऐसा होने पर नशामुक्ति केंद्र के चिकित्सकों से संपर्क करें।
स्वस्थ रहें – निरोगी रहे .

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *