पति की छोटी-छोटी बात पर गुस्सा आये तो मैं क्या करूँ
Spread the love

पायल की शादी को अभी 6 साल और कुछ महीने ही हुए हैं और वो अपने पति विनय की छोटी छोटी बात पर गुस्सा आता है. पायल नहीं चाहती की वो ऐसा करे मगर ऐसा होने पर उसको अफ़सोस भी होता है. पायल को बाद में ये फील भी होता है की उसने पति पर गुस्सा करके गलत किया. हालाँकि पति विनय भी अपनी पत्नी पायल की बात को इग्नोर कर उसको मना लेता है. विनय ने इसके लिए पायल से या उसके घर वालों से कभी शिकयत नहीं की. पायल चाहती है की उसकी ये आदत में सुधार हो उसको पति की बात से नाराज़ न होकर उनकी बात का हल निकाले.

पायल की तरह कई महिलाएं हैं जो इस ज्वलंत स्थिति से गुजरती हैं. वो चाहती है की पति और पत्नी में आपस में अंडरस्टैंडिंग रहे न की नाराज़गी. तो आइये हम इस स्थिति को समझने की कोशिश करें और जानेगे कि-

Husband-wife-personal-problem पति की बात पर बार बार गुस्सा आये तो क्या करें

how to solve husband-wife personal problem – सबसे पहले हम ये समझ लें कि शादी का शुरुआती दौर husband-wife को एक दूसरे को समझने का एक बेहतरीन समय होता है. इसे यूँ ही न गवाएं.

ये एक महिला की ज़िंदगी ‘women life’ का एक अहम् समय होता है.  पति-पत्नी के बीच जितना ज्यादा एक-दूसरे को समझने का समय देंगे उतना ही उनका भविष्य सुनेहरा होगा.

शादी के 5 से 8 साल कुछ ज्यादा नहीं होते हैं, कुछ जोड़ों के बीच तो बच्चे न होने के कारण भी एक-दूसरे के लिए भरपूर समय होता है. 5 से 8 के बाद जब दोनों के बीच कोई तीसरा आ जाता है तो पति-पत्नी को एक-दूसरे के लिए आपस में कम ही समय मिलता है. इसलिए इस समय को व्यर्थ न गवाएं.

अब हम बात करते हैं कि आखिर पति की छोटी-छोटी बात पर-

हमें गुस्सा क्यों आता है ?

  • गुस्सा आना कोई बुरी बात नहीं है, ये भी हमारी सभी feelings में से एक feeling है.
  • गुस्सा आना हमारे प्रति किये गए गलत व्यव्हार का विरोध है तो गुस्सा आना सही भी होता है.
  • गुस्सा यदि कम आये तो कोई समस्या नहीं मगर गुस्सा बार-बार और छोटी-छोटी बातों पर आये तो ये समस्या का रूप ले सकता है.
  • गुस्सा आने के कारण –
  • पति जब कोई बात या काम हमसे करने को कहे और वो हमारी इच्छा के विरुद्ध हो तो हमें गुस्सा फ़ौरन आ जाता है.
  • हम पहले से कोई काम में बिजी होने और पति उसी समय अपना कोई काम बताये तो हमें गुस्सा आता है.
  • पति के समय पर घर आने और हमें पूरा समय न देने के कारण नाराजगी की स्थिति बन जाती है जो गुस्सा का रूप ले लेती है

how to control anger and solve husband-wife problem

  • सुबह – सुबह जल्दी उठ कर थोड़ी देर ध्यान करें
  • काम से जल्दी फ्री होकर पति के साथ समय बिताएं
  • पति को बात को धैर्य से और आराम से सुने
  • सुबह बिस्तर से उठते ही काम में न लगे थोड़ी देर पति के साथ बातें करे.
  • पति यदि आपकी इच्छा के विरुद्ध बात बोले तो इग्नोर करें अथवा पति को अपनी इच्छा के बारे में धैर्य से बताएं .
  • किसी भी जल्दबाजी में बातें न करें. अपनी बात को विस्तार से और सकारात्मक तरीके से पति के सामने रखें.
  • गुस्सा आने पर गहरी साँस लें और खूब सारा पानी पियें.
  • पति को बात को सुन कर इग्नोर करें और उस समय को बीत जाने दें. शाम को जब पति घर आये तो अपनी बात पति के सामने रखें.

समस्या और घर की responsibility हमारी मनोदशा को बिगड़ने पर मजबूर कर देती हैं इसलिए हमको अनदेखा और ignore करना सीखना जरुरी है. देखने में गुस्सा करना छोटी बात लगती है मगर जब गुस्सा सर पर चढ़ता है तो जीवन की पुरानी और छोटी-छोटी बातों को बड़ा कर देती हैं. इसलिए जितना हो सके उतना धैर्य रखना सीखे, ध्यान करें, positive thought को बनाये रखें और negative thought से दूर रहें.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *