यदि बेटी अरेंज मैरिज में विश्वास न करे तो क्या करें
Spread the love

Indian parents forcing arranged marriage – बेटा हो या बेटी आज युवाओं की ये सोच बन गई है की उनकी शादी ऐसे इंसान हो जिसके बारे में वो पहले से जानते हों या उससे पहले से परिचित हों।

जब तक मां बाप लड़के और उसके परिवार के बारे में जान नही लेते अपनी बेटी का हाथ उसके हाथ में नही देते।

आज के बच्चे अपने माँ-बाप को समय से पिछड़ा हुआ समझते हूं इस कारण वो सोचते हैं कि यदि उनके मां बाप कोई लड़की या परिवार ढूंढेगे तो उनकी सोच और विचार रखने वाले ही ढूंढेगे।

एक लड़की का अपनी पसंद के लड़के से शादी करना सही है मगर परिवार को साथ मे लेना भी जरूरी है।

बेटी सोचती है कि मां बाप के द्वारा लाये गए रिश्ते से कैसे सामंजस्य बैठाएंगे।

कैसे उस लड़के साथ सारि ज़िन्दगी बिताई जाए जिसके अब तक देख भी नही।

यहां मां बाप और बेटी दोनो को कुछ बातों को समझना पड़ेगा जैसे :-

  • क्या अरेंज मैरिज ही जरूरी है?
  • क्या अरेंज मैरिज करना सही है?
  • अरेंज मैरिज और लव मैरिज में क्या फर्क है?

ये सारी बातों को बताने जायूँगी तो बात लम्बी हो जाएगी हम मूल समस्या पर आते हैं कि आखिर बेटी को अरेंज मैरिज के लिए कैसे मनाया जाये… सबसे पहले तो मै बता दूँ कि शादी अरेंज हो या लव दोनों शादी में परिवार के साथ दोनों कपल कि सहमति होना जरुरी होता है. क्यूंकि परिवार शादी करके अलग हो जाते हैं.

सारी ज़िंदगी आपकी बेटी और उसके पति को ही साथ बिताना है इसलिए दोनों को एक मत होना जरुरी है.

बेशक लव मैरिज को हमारे समाज में सही नहीं माना जाता. लव मैरिज करने वाले लड़के और लड़की दोनों को ही गलत नज़रिये से देखा जाता है और हमें रहना भी इसी समाज में है मगर फिर भी शादी के लिए दोनों जोड़ों का सहमत होना जरुरी है.

Arranged marriage के लिए कैसे मनाये बेटी को –

  • यदि आप एक माँ हो तो आपको अपनी बेटी कि समस्या को जल्दी समझ जाना चाहिए. क्यूंकि आप भी कभी इस दौर से गुजरी हों और
  • यदि नहीं भी गुजरी हो तो भी आप एक महिला हो.
  • पहले तो आप ये करें कि आप बेटी के पास जाएँ उसे धैर्य और प्यार से बात करें, उसकी दिल की सुने.
  • आपक कम बोलें और बेटी की ज्यादा सुने. उसको ये लगे कि आप उसकी बात को समझ रही हो.
  • उसकी Feelings का सम्मान करें. उसको किसी भी बात का बुरा न माने.
  • जब वो अपनी बात सही और पूरी तरह से आपको बोल दें तो उसको आश्वासन दें कि जो भी नतीजा निकाला जायेगा उसके भले और उसकी सहमति में ही होगा.
  • जिससे वो शादी करना चाहती है उस लड़के के साथ-साथ उसके परिवार के बारे में जाने.

अब आपको उसकी शादी केवल अरेंज ही करना है तो यहाँ लड़के से मिलने का कोई औचित्य नहीं है.  मगर फिर यदि आप लव मैरिज को अरेंज मैरिज में बदल सके तो ज्यादा अच्छा है. खैर यहाँ केवल अरेंज मैरिज के लिए बेटी को मनाने कि बात चल रही है तो वो ही करुँगी.

क्या फायदे हैं arranged marriage के –

  • आपको अपनी बेटी को अरेंज के फायदे बताना जरुरी है. साथ ही साथ बेटी को पता होना चाहिए कि यदि वह लव मैरिज करती है तो क्या नुक्सान है.
  • बेटी को समझाएं कि अरेंज मैरिज में उसके परिवार का नहीं बल्कि उसका भी सम्मान होगा.
  • परिवार समाज में एक उच्च स्तर और सम्मान बना रहेगा.
  • अरेंज मैरिज में भी लव होता है यदि वह arranged marriage भी करती है तो बाद में उसी व्यक्ति से लव कर सकती है.
  • वैसे तो परिवार हमेशा साथ है मगर यदि वह arranged marriage करती है तो परिवार और समाज दोनों उसके बुरे समय में साथ है
  • यदि वह अरेंज मैरिज करती है तो कास्ट और संस्कार में कोई समझौता नहीं करना पड़ता.
  • love marriage में शुरुआत में सब सही होता है मगर बात में झगडे की काफी गुंजाईश होती है जो की arranged marriage में न के बराबर है.
  • अरेंज मैरिज में सगाई के बात काफी समय होता है एक-दूसरे को जानने के लिए.
  • arranged marriage में किसी कारणवश वह अलग हो जाती है तो परिवार तो उसका ढाल बन जायेगा मगर लव मैरिज ये मुमकिन नहीं होता है.
  • arranged marriage में लड़की-लड़की को एक-दूसरे के साथ एडजस्टमेंट करना परिवार बड़ी आराम से सीखा देता है.
  • परिवार चलाने के लिए प्यार से काफी ज्यादा पैसों की जरुरत होती है जो की लव मैरिज में बेटी-बीटा को ही जुगाड़ करना पड़ता है.
  • उसकी सहेली और मिलने-जुलने वालो में से जिसने अरेंज मैरिज की उनसे बात करवाएं उनका अनुभव उसको बतलायें
  • इन सब बातों के बाबजूद भी आपकी बेटी नहीं मानती है तो उसे अपने प्यार से arranged marriage करने के लिए कहे.

यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है की माँ-बाप और बेटी दोनों को एक दूसरे को अपनी अपनी बात रखने का पूरा-पूरा मौका मिलना चाहिए.
शादी कोई भी उसे चलाने के लिए प्यार और पैसा दोनों की जरुरत पड़ती है इसलिए यहाँ दोनों मिले वही शादी करें.  Bollywood movies में भी आज love+arrange marriage पर ही जोर दिया जाता है यदि south Indian movies की फिल्मो में देखेंगे तो प्यार होने के बाबजूद भी अरेंज मैरिज ही बताई जाती है.

ये मेरे विचार हैं हो सकता है आपको सही न लगे मगर कुछ हद आपको जरूर मदद देंगे. धन्यवाद.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *