मां नाम है संवेदना, भावना और अहसास का
Spread the love

Mothers Day Special

मुझे एक शेर याद आता है जो मुनव्वर राना जी ने लिखा था की –
चलती फिरती हुई आँखों से अज़ाँ देखी है
मैं ने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है
बिलकुल सही कहा है मुनव्वर राना ने, इस शेर के एक-एक शब्द से ज़ाहिर है की माँ की क्या जगह होती है.

मां की ममता की महिमा कोई शब्दों में कहना चाहे तो कह नहीं सकता क्यूंकि माँ की ममता को तो सिर्फ महसूस किया जा सकता है। माँ शब्द कहने में छोटा है मगर इस छोटे शब्द में जो फैलाब, जो विराटता है वो कहीं नहीं है.

मातृ दिवस Mother’s day तो एक दिन का होता है मगर हमें माँ के लिए ये पूरा सप्ताह देना चाहिए.  आज हम बाद कर रहे माँ की क्यूंकि ये सप्ताह माँ के लिए जियें. इस सृष्टि को बनने में मां ने प्रमुख भूमिका निभाई है. माँ शब्द में पूरी सृष्टि आ जाती है. मां के शब्द में जो आत्मीयता एवं मिठास छिपी हुई होती है, वो किसी शब्दों में नहीं होती।

मां नाम है संवेदना, भावना और अहसास का।
हर संतान अपनी मां से ही संस्कार पाता है। लेकिन मेरी दृष्टि में संस्कार के साथ-साथ शक्ति भी मां ही देती है। इसलिए हमारे देश में मां को शक्ति का रूप माना गया है और वेदों में मां को सर्वप्रथम पूजनीय कहा गया है।

एक स्त्री जब माँ बनती है तो उसकी पूर्णता जब ही पूरी होती है. एक बेटी जब विदा होती है तो सबसे ज्यादा रोने वाला इंसान माँ ही होती है. जिस बेटी से काफी प्यार और झगडे किये उस कलेजे के टुकड़े को किसी और के हवाले करने के लिए दिल पर पत्थर रखने वाली माँ ही होती है।
जब बेटी किसी संकट या परेशानी में होती है तो वह अपनी हर एक बात को खुलकर अपनी माँ के सामने रखती है और माँ हर समस्या में बेटी की सहायता करने का अपना पूरा प्रयास करती है।

माँ सिर्फ जीवन नहीं देती बल्कि जीवन जीने का तरीका भी सिखाती है. माँ जननी के साथ साथ पालनकर्ता, प्रारंभिक शिक्षक तथा मार्गदर्शक भी होती है। माँ अपनी शिक्षाओं द्वारा शारिरीक तथा मानसिक दोनों ही रुप से अपनी संतान को मजबूत बनाने का कार्य करती है. माँ वह शख्स है जो हमारे जीवन में शिक्षक, पालनकर्ता, मित्र, मार्गदर्शक जैसी अनगिनत महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाती है। यही कारण है कि हमें हमेशा अपने माँ का सम्मान करना चाहिए और उन्हें सदैव खुश रखने का प्रयास करना चाहिए।

अंत में फिर से मुनव्वर राना जी का एक शेर कहती हूँ
‘मुख़्तसर होते हुए भी ज़िन्दगी बढ़ जाएगी,
माँ की आँखें चूम लीजिये रौशनी बढ़ जाएगी.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *