भारत की मिसाइल वुमन
Spread the love

आज हम इंसानी दिमाग से भी तेज चलने वाले रॉबोट का अविष्कार कर चुके हैँ, आज हमे लगभग कुछ भी करना नामुनकिन नहीं है हम मंगल पर जाने के बारे मई सोच रहे हैँ. हम कई कदम आगे निकल चुके हैँ यहाँ कई साल पहले हमारी देश की महिलाएं जो कभी घूंघट में रहा करती थी अब कुश्ती बॉक्सिंग जैसे खेलों में मेडल भी जीतकर देश का नाम रोशन करने लगी है।

ऐसे हम indian women life पर बात करेंगे ऐसे महिला की जिन्होंने मिसाइल बनाने की हिम्मत की, हम जब भी मिसाइल की बात करते हैँ तो हमें सबसे पहले अब्दुल कलाम की याद आती है। और यही कारण है कि उन्हें पूरा देश मिसाइल मैन के नाम से भी जानता है। लेकिन क्या आप जानते है हमारे देश की मिसाइल वुमन कौन है,

आईपीएस ऑफिसर का सपना देखने वाली टेस्सी थॉमस कभी साइंटिस्ट नहीं बनना चाहती थी, मगर कहते हैँ किस्मत पर किसका जोर है इसी तरह टेस्सी थॉमस आईपीएस अफसर की रह पर चलते चलते देश की रक्षा के लिए साइंटिस्ट के छेत्र में आ गेन. दरअसल Tessy केरल राज्य की रहने वाली है उनका पूरा बचपन ईसरो लांच साइट के करीब गुजरा था। जिस वजह से ना चाहते हुए भी उनका मन रॉकेट और मिसाइल की तरफ आकर्षित होने लगा। टेसी के पति भी नौसेना में कमांडर है और देश की रक्षा में अपना दायित्व निभा रहे है।

वैज्ञानिक Tessy Thomas भारत की मिसाइल वुमन के नाम से जानी जाती है टेसी थॉमस को भारत की अग्नि पुत्री भी कहा जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि देश की शोभा बढ़ाने और बॉर्डर पर विरोधियों के छक्के छुडाने वाले अग्नि मिसाइल वैज्ञानिक टैसी थॉमस ने तैयार किए हैं। टेसी थॉमस साल 1988 से ही अग्नि मिसाइल के परीक्षण से जुड़ी हैं। टेसी थॉमस के सफल परीक्षण में अग्नि -2, अग्नि -3, अग्नि – 4 और अग्नि – 5 की टीम का हिस्सा बना और उसका सफल निरीक्षण शामिल है।

टेसी थॉमस यानी भारत की मिसाइल वुमन के अनुसार उन्हें इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की प्रेरणा डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम से मिली जिन्हें टेसी आज भी अपना गुरु और प्रेरणा श्रोत मानती है।

किसी काबलियत का अंदाजा उसके चेहरे, लिंग या उसकी आर्थिक स्थिति से नहीं लगाया जा सकता। और टेसी थॉमस जैसी महिलाएं इसी का एक जीता जागता उदाहरण है कि किसी के लिए भी कुछ भी असंभव नहीं है।

टेसी थॉमस ने कुछ समय पहले ही अग्नि 5 का सफल निरीक्षण किया है। जिसकी रेंज 8000 के आसपास है साथ ही इसकी क्षमता 5 हजार किलोमीटर है। यानी कि इस मिसाइल के जरिए दुश्मन को आसानी से उसी के गढ़ में मारा जा सकता है। टेसी थॉमस ने मिसाइल निर्माण के क्षेत्र में अपने इतने बेहतरीन काम से देश की सुरक्षा और विकास की गति में अहम योगदान दिया है।

अगर हम ये कहें की देश की रक्षा में टेसी थॉमस का भी हमेशा ही अहम योगदान रहेगा तो गलत नहीं होगा। इंटरकॉन्टिनेंचल बैलिस्टिक मिसाइल का नेतृत्व करने वाले दुनियाभर के चंद साइंटिस्ट में टेसी थॉमस का नाम भी शामिल है। टेसी थॉमस की उपलब्धियों में भारत के मिसाइल फाइटर जेट तेजस को तैयार करना भी शामिल है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *