हाई ब्लड प्रेशर की समस्या के प्राकृतिक उपाय
Spread the love

सबसे पहले जाने है ब्लड प्रेशर है क्या – ब्लड प्रेशर वह बल है जिसकी ज़रूरत आपके हृदय को रक्त को विभिन्न धमनियों, शिराओं और वाहिकाओं के माध्यम से आपके अंगों तक पहुंचाने के लिए पड़ती है।

हाइपरटेंशन अर्थात उच्‍च रक्‍तचाप एक ऐसी समस्या है जो लोगों में तेजी से फैल रही है। आमतौर पर उच्च रक्तचाप की पहचान स्क्रीनिंग के माध्यम से होती है। उच्च रक्तचाप से पीड़ित कुछ लोग सिरदर्द तथा चक्कर आने की, कान में गूंज या फुसफुसाहट की आवाज़, दृष्टि परिवर्तन तथा बेहोशी की शिकायत करते हैं। इसमें धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ जाता है जिसके कारण दिल को सामान्‍य से अधिक कार्य करना पड़ता है। हाई ब्लड प्रेशर पर अगर नियंत्रण न रहे तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए गंभीर समस्या पैदा कर सकता है।

आइये जानते है दवाइयों के अलावा प्राकर्तिक तरीको से इससे निजात –

सफेद सेम –

सफेद सेम का एक कप 13 प्रतिशत कैल्शियम 30 प्रतिशत मैग्नीशियम और 24 पोटेशियम प्रदान करता है। आप इन्हें कई प्रकार जैसे सब्जी बनाकर, सूप के रूप में या सलाद में खा सकते हैं। ऊर्जा का समुचित उपयोग तंत्रिकाओं और मांसपेशियों के बीच संकेत प्रदान करने में मदद करता है। अध्ययनों से पता चलता है कि सेम में मौजूद विटामिन बी 1 दिल की बीमारी का सामना करने में मदद और दिल की विफलता का भी इलाज करता है

कद्दू के बीज-

कद्दू का बीजों में जिंक प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो तनाव को कम करने में मदद करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

किशमिश –

दिन में तीन बार मुट्ठी भर किशमिश खाने से बढ़े रक्तचाप में कमी होती है।

पोटेशियम –

पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थों में सेम व मटर, गिरियां जैसी सब्जियां, केला, पपीता व खजूर आदि प्रमुखता से शामिल होते हैं।

दही-

दही में प्रोटीन, कैल्‍शियम, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी 6 और विटामिन बी 12 काफी मात्रा में होते हैं, जो कि उच्‍च रक्‍तचाप की समस्‍या को कम करते हैं और शरीर को कई प्रकार को लाभकारी अवयव मिलते हैं। दही में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है।

सोयाबीन –

सोयाबीन को अपने आहार में नियमित रूप से शामिल करने से भी रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है।

शकरकंद-

शकरकंद में बीटा कैरोटीन, कैल्‍शियम और घुलनशील रेशे होते हैं। जो स्‍ट्रेस को कम करते हैं। इसलिये प्रतिदिन अपने आहार में करीब 1 से 2 स्‍लाइस शकरकंद जरुर शामिल करें।

अन्य उपाय –

  1. आप अधिक सब्जियां और फल खाना शुरू कर दें।
  2. नमक का सीमित सेवन करें।
  3. कम चिकनाई वाले उत्पाद का सेवन करें ।
  4. रोज़ाना कम से कम 30 मिनट तक एक्सरसाइज करें।
  5. अपनी डाइट में हर्बल चाय और जूस शामिल करें।
  6. अपना वजन काम करने की कोशिश करें।
  7. नशीले उत्पादों के इस्तेमाल से बचें।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *