हाई ग्रेड कैंसर

कैंसर शरीर की कोशिकाओं को प्रभावित करता है। शरीर में नये सेल्स और पुराने सेल्स के बदलाव की प्रक्रिया में कैंसर होने की ज्‍यादा संभावना होती है। सामान्य तौर पर शरीर में कुछ नये सेल्स बनते हैं और पुराने सेल्स टूटते हैं जिनके असमान्य जमाव से कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है। उच्च ग्रेड (खराब अंतर) कैंसर में, कैंसर कोशिकाएं सामान्य कोशिकाओं से बहुत अलग दिखती हैं। हाई-ग्रेड कैंसर अक्सर तेजी से बढ़ते हैं और एक खराब दृष्टिकोण होता है ताकि उन्हें निम्न ग्रेड कैंसर की तुलना में विभिन्न उपचार की आवश्यकता हो। जबकि निम्न ग्रेड कैंसर में कोशिकाएं सामान्य ऊतक से कोशिकाओं की तरह दिखती हैं। आम तौर पर, ये कैंसर धीरे-धीरे बढ़ता है।"/>
कैंसर की बीमारी से जूझ रही हैं सोनाली बेन्द्रे
Spread the love

टीवी शो इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज में बतौर जज काम कर सोनाली बेन्द्रे की जगह पर हुमा कुरैशी को रिप्लेस किया गया था। शायद इसकी वजह सोनाली का कैंसर की चपेट में आना है। हाल ही में सोनाली ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्ट के जरिए अपने फैन्स को झकझोर कर रख दिया। उन्होने पोस्ट को जरिए बताया कि वह कैंसर की चपेट में आ गई हैं। बीमारी के बारे में बात करते हुए सोनाली ने कहा कि वह हाई ग्रेड कैंसर से जूझ रही हैं। फिलहाल उनका इलाज न्यूयॉर्क में चल रहा है। जहां उनके परिवार और कुछ करीबी दोस्त उन्हें पूरी तरह से स्पॉट कर रहे हैं। अपनी बीमारी का जिक्र करते हुए सोनाली इस पोस्ट को जरिए कहती है, ‘कभी-कभी जब आपको जरा भी उम्मीद नहीं होती जिंदगी अचानक आपको अजीब से मोड़ पर लाकर खड़ा कर देती है। हाल ही में मुझे हाई-ग्रेड कैंसर डायग्नोज हुआ है, जिसके बारे में हमें पता तक नहीं चला।’

इससे आगे सोनाली बता रही हैं कि हल्के दर्द के चलते उन्होने कुछ टेस्ट करवाए, जिसकी रिपोर्ट ने उन्हें हैरान कर दिया, जिसकी उन्हें उम्मीद तक नहीं थी। इस मुश्किल दौर में सोनाली कहती हैं, ‘ मेरा परिवार और मेरे दोस्त मेरे साथ मजबूती से खड़े हुए हैं, मैं बहुत खुशकिस्मत और उन सबकी आभारी हूं।’  इस पोस्ट के जरिए सोनाली यह भी कह रही हैं कि वह कैंसर से लड़ाई लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उनके फैन्स भी इस मुश्किल दौर में सोनाली के साथ हैं। इससे पहले बॉलीवुड एक्टर इरफान खान भी न्यूरोक्राइन ट्यूमर के इलाज के लिए इन दिनों लंदन में हैं

उन्हें हाईग्रैंड कैंसर हुआ है, जोकि शरीर के अन्य भागों में भी फैल गया है l जब यह हो रहा था, तब उन्हें इसका पता भी नहीं चला l उन्होंने अभी एक छोटे से दर्द की जांच करवाई जिसके बाद इस बीमारी का खुलासा हुआ है। वाकई कैंसर एक बहुत खतरनाक बीमारी है जिससे लड़ने से लिए हिम्मत और साहस की बहुत जरूरत होती हैं।

कैंसर की बीमारी से जूझ रही हैं सोनाली बेन्द्रे 1

हाई ग्रेड कैंसर

कैंसर शरीर की कोशिकाओं को प्रभावित करता है। शरीर में नये सेल्स और पुराने सेल्स के बदलाव की प्रक्रिया में कैंसर होने की ज्‍यादा संभावना होती है। सामान्य तौर पर शरीर में कुछ नये सेल्स बनते हैं और पुराने सेल्स टूटते हैं जिनके असमान्य जमाव से कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है। उच्च ग्रेड (खराब अंतर) कैंसर में, कैंसर कोशिकाएं सामान्य कोशिकाओं से बहुत अलग दिखती हैं। हाई-ग्रेड कैंसर अक्सर तेजी से बढ़ते हैं और एक खराब दृष्टिकोण होता है ताकि उन्हें निम्न ग्रेड कैंसर की तुलना में विभिन्न उपचार की आवश्यकता हो। जबकि निम्न ग्रेड कैंसर में कोशिकाएं सामान्य ऊतक से कोशिकाओं की तरह दिखती हैं। आम तौर पर, ये कैंसर धीरे-धीरे बढ़ता है।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *