फलाहार का विशेष व्यंजन है साबूदाना
Spread the love

साबुदाना के गुण

नवारात्र चालू होने वाले है नवरात्र में उपवास भी रखेंगे आप लोग. खास कर महिलयों के लिए ये उपवास बहुत मायने रखते हैं. उपवास के दौरान वैसे तो कई चीज़ें है जो फलहार का काम करती हैं मगर साबूदाना की खिचड़ी, साबुदाना की खीर, टिक्‍की और भी न जाने कितनी चीजें हैं जो महिलाओं को बहुत पसंद है. इस साबूदाना के कई फायदे भी हैं अगर आप भी नहीं जानते इसके गुणों के बारे में तो हम आपको बताते हैं –

एनर्जी –
उपवास के दौरान एनर्जी की खासतौर पर जरुरत पड़ती है ऐसे में साबूदाना बहुत फायदे मंद हैं .साबूदाना कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्त्रोत है, जो शरीर में तुरंत और आवश्यक उर्जा देने में बेहद सहायक होता है।

थकान –
उपवास रखते समाये हमें कुछ टाइम तो बिना कुछ खाये ही रहना पड़ता है. भाई अब दिन के सुरुवात में ही कुछ खा लेंगे तो फिर उपवास कैसा. अब भूखे रह कर हमको काम भी करना पड़ता है ऐसे हमें थकान भी जल्दी ही आ जाती है.
साबूदाना खाने से थकान कम होती है। यह थकान कम कर शरीर में आवश्यक उर्जा के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है।

पेट की समस्याएं –
पेट में किसी भी प्रकार की समस्या होने पर साबूदाना खाना काफी लाभप्रद सिद्ध होता है, और यह पाचनक्रिया को ठीक कर गैस, अपच आदि समस्याओं में भी लाभ देता है।

हड्डियां को करे मजबूत –
साबूदाने में कैल्शियम, आयरन, विटामिन-के भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाए रखने और अवश्यक लचीलेपन के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

गर्मी पर नियंत्रण –
एक शोध के अनुसार साबूदाना आपको तरोताजा रखने में मदद करता है, और इसे चावल के साथ प्रयोग किए जाने पर यह शरीर में बढ़ने वाली गर्मी को कम कर देता है।

दस्त लगने पर –
जब किसी कारण से पेट खराब होने पर दस्त या अतिसार की समस्या होती है, तो ऐसे में बगैर दूध डाले साबूदाने की बनी हुई खीर बेहद असरकारक साबित होती है और तुरंत आराम देती है।

अब हम आपको बताते है साबूदाना भिगोने का सही तरीका

  • अगर आप साबूदाना भिगोते वक्त ज्यादा पानी डालेंगे तो इससे बनने वाली चीजें चिपचिपी हो सकती हैं.
  • अगर साबूदाना सूखे लगे तो उसके ऊपर से 1 बड़ा चम्मच पानी छिड़के और अच्छी तरह मिला दें.
  • जरूरत के अनुसार आप ज्यादा पानी डाल सकते हैं. पर एक ही बार में बहुत ज्यादा पानी न डालें. नहीं तो साबूदाना चिपचिपे हो जाएंगे.
  • अगर आप बड़े साइज के साबूदाना का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उन्हें रातभर पानी में भिगों दें. इसे भिगोने के लिए दो घंटे पर्याप्त नहीं हैं.
  • 1 कप साबूदाना को भिगोने के लिए 1 कप पानी पर्याप्त है. मतलब साबूदाना में पानी की मात्रा ठीक इसकी सतह के बराबर तक रहे.
  • छोटे साइज के साबूदाने को 30 मिनट तक पानी में भिगोएं. इसके बाद इसका पानी निकालकर 2-3 घंटे रखने के बाद ही इस्तेमाल करें.

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *