कब और कैसे हुई महिला दिवस की शुरुआत?
Spread the love

महिलाओं ने वक्त के साथ अपनी पहचान बनाई है, जिसके पीछे परीश्रम और संघर्ष की दास्तान है। आज महिलाएं गर्व के साथ कह सकती हैं कि वे पुरुषों के मुकाबले वे कतई कमतर नहीं हैं। कोई भी कार्यक्षेत्र क्यों न हो, महिलाओं की भागीदारी को सम्मान दिया जाने लगा है।

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के इतिहास की बात करें तो सबसे पहले इसे साल 1909 में मनाया गया। इसके बाद इस दिवस को सन् 1975 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने मान्यता दी। फिर तो दुनियाभर के देशों में इसे समारोहपूर्वक मनाया जाने लगा।इस दिवस का मकसद महिलाओं के प्रति सम्मान, उनकी प्रशंसा और उनके प्रति अनुराग व्यक्त करना है। इस दिन खासकर उन महिलाओं के प्रति सम्मान प्रकट किया जाता है। जिन्होंने आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक क्षेत्रों में अहम उपलब्धियां हासिल की हैं। खासकर महिलाओं के संघर्ष का उल्लेख करते हुए उनकी सफलता की बानगी पेश की जाती है।

28 फरवरी साल 1909 को पहली बार अमेरिका में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। इसमें सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने अहम भूमिका निभाई। दरअसल उन दिनों न्यूयॉर्क में कपड़ा मिलों में काम करने वाली महिलाएं शोषण के चलते बेहद परेशान थीं। बीते एक साल से उनकी हड़ताल चल रही थी और उनकी सुनने वाला कोई नहीं था। इनके इस संघर्ष को समर्थन देते हुए 28 फरवरी 1909 को सोशलिस्ट पार्टी ने इन्हें सम्मानित किया। अपने दम पर महिला गार्मेंट वर्कर्स ने तब काम के घंटे और बेहतर वेतनमान की अपनी लड़ाई में जीत हासिल की थी।

वहीं रूस में पहली बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस फरवरी माह के आखिरी 1913 को मनाया था। इन महिलाओं ने प्रथम विश्व युद्ध का विरोध करने के लिए ये दिवस मनाया था। इसी तरह युरोप में 8 मार्च को पीस ऐक्टिविस्ट्स के समर्थन में महिलाओं ने रैलियां निकालीं। इसके साथ ही युरोप में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की नींव पड़ी।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को तब वैश्विक स्तर पर मान्यता मिली जब सन् 1975 में पहली बार यूनाइटेड नेशन्स ने 8 मार्च के ये दिन सेलेब्रेट किया।इससे एक कदम आगे बढ़ते हुए सन् 2011 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मार्च महीने को ‘महिलाओं का महीना’ के तौर पर मान्यता दी। इसके बाद अमेरिका में मार्च के पूरे महीने महिलाओं की मेहनत और उपलब्धियों को लेकर उन्हें सम्मानित करने की रवायत शुरू हुई।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *