टैलेंट ही अल्टीमेट है : यामी गौतम
Spread the love

फिल्म इंडस्ट्री में Yami Gautam को हुए सात साल पूरे

  • Bollywood actress Yami Gautam को फिल्म इंडस्ट्री में आए सात साल पूरे हो गए हैं।
  • सात साल पहल ही उनकी पहली फिल्म विकी डोनर आई थी ।
  • इस फिल्म ने अपने यूनीक कंटेंट की वजह से ऑडियंस को खासा इंप्रेस किया था।

गॉडफादर जरूरी नहीं – जब उनसे सवाल किया गया कि बड़े और बेहतर रोल्स उन लोगों तक नहीं पहुंच पाते जिनके गॉडफादर नहीं होते तो यामी ने जवाब दिया, ‘मुझे नहीं लगता कि ये सच है।’

यामी ने आगे कहा, ‘जिस तरह से एक-एक साल बीत रहा है, ये प्रूव हो गया कि टैलेंट ही अल्टीमेट है और आज के दौर की जरूरत भी।

कभी-कभी ऐसा होता है कि कोई व्यक्ति किसी की मदद से कुछ सालों में अचीवमेंट हासिल कर लेता है ।

कभी-कभी ये भी होता है कि दूसरा व्यक्ति बिना किसी हेल्प के उससे कम वक्त में ही सक्सेस हासिल कर ले।

शूजीत सरकार की फिल्म विक्की डोनर में यामी गौतम ने फिल्मी करिअर की शुरुआत के 7 साल पूरे कर लिए हैं।

इतने बड़े पैमाने पर क़ामयाबी हासिल करने वाली अहम अवधारणा से प्रेरित पहली फिल्मों में से एक, विक्की डोनर को 20 अप्रैल 2012 को दुनिया भर में रिलीज़ किया गया था।

अब 7 साल बाद 2019 में, यामी विक्की डोनर जैसी सफ़ल फिल्म से शुरुआत करने के साथ-साथ अब उरी की रिलीज़ के 100वें दिन का जश्न मना रही है।

यामी गौतम का आगे कहना है कि  ‘हां लेकिन जब आपके पास सपोर्ट होता है तो आपके पास एक फिल्म फ्लॉप हो जाने के बाद दूसरी फिल्म मिल जाने का चांस ज्यादा होता है। बस यही एक बात है जो आउटसाइडर्स के फेवर में नहीं होती।

एक डिफरेंट कॉन्सेप्ट वाली फिल्म से बॉलीवुड में एंट्री करने वाली यामी कहती हैं कि सिर्फ एक फिल्म चल जाने से कुछ नहीं होता।

लगातार अच्छा काम करना जरूरी है और उसके लिए बहुत ध्यान से फिल्मों का सिलेक्शन करना चाहिए।

किसी भी एक्टर के लिए कंसिस्टेंसी इंपॉर्टेंट है। उसे वैसा ही काम चूज करना चाहिए जो उसे सबसे बेस्ट तरीके से सूट करे।

मेरे ख्याल से तभी सही मायनों में एक एक्टर अपने करियर में सक्सेस को हासिल कर सकता है।’

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *